अपहृत ढाबा संचालक का बेटा महाराष्ट्र में मिला, किडनैपर्स फरार

Chhattisgarh Crimes

राजनांदगांव। राजनांदगांव अपहरण कांड मामले में अहम जानकारी सामने आ रही है। अपहरणकर्ताओं ने कारोबारी के बेटे गुरप्रीत को नागपुर के करीब साकोली क्षेत्र में छोड़कर भाग खड़े हुए। गुरप्रीत दुर्ग वापस आने के लिए नागपुर बस स्टैंड पहुंचकर बस पर सवार हो चुका था. नागपुर बस स्टैंड पहुंचकर पुलिस ने तत्परतापूर्वक गुरप्रीत को अपने कब्जे में ले लिया। गुरप्रीत को सकुशल घर लाया जा रहा है।

बता दें कि नेशनल हाईवे में सोमनी थाना क्षेत्र अंतर्गत ढाबा संचालक के नाबालिग पुत्र का आरोपियों ने अपहरण कर लिया था। आरोपियों ने फोन कर उसके परिजनों से 50 लाख रुपए फिरौती की मांग की थी। अपहरणकर्ताओं ने बच्चे की मां को फोन किया। किडनैपर ने फोन पर कहा कि भैया (बच्चे के पिता) का फोन नहीं लग रहा है, इसलिए आपको कॉल किया भाभी जी, 50 लाख रुपए का बंदोबस्त करें और बच्चे को ले जाएं।

अपहृत बालक को बरामद कर छत्तीसगढ़ लाया जा रहा है. उसके साथ प्रधान आरक्षक अनिल शुक्ला, मनीष मणिकपुरी और आदित्य सिंह की टीम मौजूद हैं.