दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम मोटेरा अब नरेंद्र मोदी स्टेडियम के नाम से जाना जाएगा, राष्ट्रपति ने किया उद्घाटन

Chhattisgarh Crimes

अहमदाबाद। दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम मोटेरा अब नरेंद्र मोदी स्टेडियम के नाम से जाना जाएगा। 1.32 लाख दर्शकों की क्षमता वाले दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट ग्राउंड का बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उद्घाटन किया। इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद थे। शाह गांधीनगर से लोकसभा सदस्य हैं। यह स्टेडियम उन्हीं के निर्वाचन क्षेत्र में आता है। उद्घाटन समारोह में प्रधानमंत्री ने हिस्सा नहीं लिया। दिलचस्प बात यह है कि मोटेरा स्टेडियम का पहले आधिकारिक नाम सरदार पटेल स्टेडियम था। अब नए स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का नाम सरदार पटेल के नाम पर होगा।

शाह ने कहा कि अहमदाबाद अब स्पोर्ट्स सिटी के रूप में अपनी पहचान बनाएगा। मोदी जी जब गुजरात के सीएम थे, तब से उनका यह सपना था। मोटेरा स्टेडियम के नजदीक 251 करोड़ रुपए की लागत से दुनिया का सबसे बड़ा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स भी बनेगा। इसका नाम सरदार वल्लभ भाई पटेल स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स हाेगा।

Chhattisgarh Crimes

अहमदाबाद 6 महीने में इंटरनेशनल इवेंट लायक हो सकेगा

अमित शाह ने कहा, ‘”सरदार वल्लभ भाई पटेल के नाम से स्पोर्ट्स सेंटर बनेगा। देश के खिलाड़ियों और उनके कोच के रहने की व्यवस्था होगी। एकसाथ 3 हजार लोग ट्रेनिंग ले सकेंगे। इसकी शुरुआत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों से हो रही है। यह मेरा संसदीय क्षेत्र और यहां ये बड़ा काम होने की मुझे खुशी है। सरदार पटेल स्पोर्ट कॉम्प्लेक्स 230 एकड़ जमीन पर बनेगा। इसके अलावा 18 एकड़ का अलग स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स बनेगा। स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, स्टेडियम, नारायणपुरा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स को मिला दिया जाए तो 233 एकड़ भूमि होती है। इस पर किसी भी अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता कराने के लिए अहमदाबाद 6 महीने में तैयार हो जाएगा, भले वो एशियाड हो, कॉमनवेल्थ हो या फिर ओलिंपिक्स। अहमदाबाद स्पोर्ट्स सिटी के नाम से जाना जाएगा।’’

गृह मंत्री बोले- ‘‘मोदीजी जब गुजरात के मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने कहा कि हमें दो चीजों में आगे बढ़ना चाहिए। स्पोर्ट्स और सेना में भर्ती। मोदीजी ने इसकी शुरुआत की और आज सेना की भर्ती का कोटा खाली नहीं जाता है। जब स्टेडियम बनने की बात हुई तो उन्होंने ही कहा था कि गुजरात में जो भी बनेगा, वो विश्व में सबसे बड़ा होगा। और अब यह हो गया। 1 लाख 32 हजार क्रिकेट प्रेमी एकसाथ स्टेडियम में क्रिकेट का लुत्फ उठा पाएं, ऐसा स्टेडियम बना है। दुनिया का सबसे बड़ा स्पोर्ट्स स्टेडियम है, जिसका नाम नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम रखा गया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मोटेरा में एक दिन में दो मैच भी खेलने है तो भी हो सकते हैं। बारिश आती है तो कितनी भी हो, आधे घंटे में मैच शुरू हो सकता है। LED लाइट्स लगाई गई हैं। खिलाड़ी की परछाई ग्राउंड पर नहीं पड़ेगी। 40% से 50% बिजली बचेगी। यहां दुनिया का सबसे बड़ा और हाईटेक मीडिया रूम है। आवाजाही के लिए बीआरटीएस, मेट्रो भी पहुंचने वाली है, रीवर फ्रंट का एक्सटेंशन खत्म होने पर मां नर्मदा भी यहां शांति प्रदान करेंगी।’’

650 स्कूलों को मोदी स्टेडियम से जाेड़ेंगे

शाह ने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी स्टेडियम के भीतर अलग-अलग खेलों की व्यवस्था है। खिलाड़ी और कोच रह सकेंगे। 650 स्कूलों को इससे जोड़ा जाएगा, जिनके पास प्लेग्राउंड नहीं है। बच्चे खेलेंगे नहीं तो हारेंगे कैसे, हारेंगे नहीं तो जीत का जज्बा कैसे पैदा होगा। बसों से ये बच्चे हफ्ते में एक बार आएंगे, दिनभर खेलेंगे और खाएंगे-पीएंगे। इसके बाद बस से उन्हें सुरक्षित वापस भेजा जाएगा।’’

3 हजार अपार्टमेंट बनेंगे, 12 हजार 500 बच्चों को कोचिंग मिलेगी

शाह ने कहा, “ये एन्क्लेव सभी अंतरराष्ट्रीय मानकों और उच्चतम सिद्धांतों के आधार पर बना है। मोदीजी ने अहमदाबाद को हैरिटेज सिटी बनाया था और अब ये स्पोर्ट्स सिटी बनेगा। ट्रैक एंड फील्ड और फुटबॉल के लिए 50 हजार दर्शकों की क्षमता वाला स्टेडियम बनेगा। 15 हजार लोगों की क्षमता वाला ध्यानचंद स्टेडियम भी बना है और उसका उद्घाटन राष्ट्रपति करेंगे। जिन्होंने देश के लिए आजादी के लिए काम किया, उनके नाम पर ही स्टेडियमों का नाम रखा जाएगा। ये बच्चों को भी प्रेरणा देगा। 3 हजार अपार्टमेंट बनेंगे, जिनमें 12 हजार 500 बच्चे कोचिंग पा सकेंगे। 12 हजार कार और 35 हजार टू व्हीलर की पार्किंग की व्यवस्था की गई है। एक शहर के भीतर एक शहर है।’

मोटेरा में कई रिकॉर्ड बने हैं

शाह बोले, ‘‘ये ऐतिहासिक स्टेडियम है। यहां बहुत रिकॉर्ड बने हैं। पिंक बॉल मैच पहली बार यहां खेला जाएगा। कपिल देव ने रिचर्ड हेडली का 431 विकेट लेने का रिकॉर्ड यहां तोड़ा था। सचिन तेंदुलकर ने 2011 के वर्ल्डकप के एक मैच में 18 हजार रन यहीं पूरे किए थे। उन्होंने अपने करियर के 20 साल यहीं पूरे किए।’’

मोटेरा स्टेडियम की खासियत

700 करोड़ की लागत से बना
करीब 700 करोड़ रुपए की लागत से बने इस स्टेडियम में ओलिंपिक साइज का स्विमिंग पूल भी है। स्टेडियम में 4 ड्रेसिंग रूम हैं। 63 एकड़ में पूरा स्टेडियम परिसर है। इसके अलावा बॉक्सिंग, बैडमिंटन, टेनिस के लिए अलग से कोर्ट बने हुए हैं। इतना ही नहीं, हॉकी और फुटबॉल फील्ड भी इसी परिसर में हैं।

360 डिग्री स्टेडियम

हम आमतौर पर क्रिकेट स्टेडियम में देखते हैं कि दर्शक हमेशा आगे की लाइन में ही बैठना पसंद करते हैं, क्योंकि इससे मैच बिना किसी रुकावट के देखा जा सकता है। वहीं, मोटेरा स्टेडियम की खासियत यह है कि स्टेडियम के बीच में एक भी पिलर या अन्य कोई अड़चन नहीं है। इसका मतलब है कि किसी भी स्टैंड में बैठकर मैच का लुत्फ उठाया जा सकता है।

अब तक मेलबर्न था सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम

इससे पहले दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न का नाम शुमार था। मोटेरा स्टेडियम की दर्शक क्षमता 1 लाख 10 हजार से बढ़ाकर 1 लाख 32 हजार कर दिया गया है। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) की क्षमता एक लाख दर्शक है। ऐसे में मोटेरा दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है। हालांकि, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम का दर्जा प्राप्त करने के लिए स्टेडियम में इतने दर्शक एक साथ मौजूद होने चाहिए।