दशहरा पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने CM हाउस में की शस्त्र पूजा, शस्त्रागार में अफसरों ने हवा में गोलियां चलाईं

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। विजयादशमी पर पुलिस और सुरक्षा बलों ने शस्त्रों की पूजा कर माता से अभय का आशीर्वाद लिया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने CM हाउस में विधि-विधान से शस्त्रों की पूजा की। इस दौरान मुख्यमंत्री सुरक्षा के अधिकारी-कर्मचारी भी मौजूद रहे। इधर रायपुर पुलिस लाइन के शस्त्रागार में भी पूजा की गई। यहां एसएसपी प्रशांत अग्रवाल मुख्य यजमान बने।

दशहरा पर माता दुर्गा, भगवान राम और शस्त्रों की पूजा के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, दशहरा असत्य पर सत्य की जीत, अंधकार पर प्रकाश की जीत और अधर्म पर धर्म की जीत का पर्व है। यह पर्व हमें अपने अहंकार तथा बुराई को समाप्त कर अच्छाई तथा सत्य की राह पर चलने की सीख देता है। दशहरा पूजा के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने पैतृक गांव कुरुदडीह भी गए। वहां नयाखाई के मौके पर उन्होंने परिवार के लोगों के साथ कुल देवता की पूजा की।

मुख्यमंत्री इस मौके पर प्रदेश के लोगों की खुशहाली की कामना भी की। कुरुदडीह से मुख्यमंत्री वापस रायपुर लौटेंगे। शाम को उन्हें रायपुर के डब्ल्यूआरएस रेलवे कॉलोनी मैदान में आयोजित दशहरा समारोह में शामिल होना है। यहां प्रदेश का सबसे बड़ा दशहरा आयोजन होता है। मुख्यमंत्री शाम को कुम्हारी, चरोदा और भिलाई के दशहरा उत्सवों में भी शामिल होने वाले हैं।

मुख्यमंत्री निवास में कुछ इस तरह हुई शस्त्र पूजा। - Dainik Bhaskar

अफसरों ने हवा में चलाई गोलियां

रायपुर पुलिस लाइन शस्त्रागार में शस्त्र पूजा हुई। इसमें एसएसएसपी प्रशांत अग्रवाल सहित, एएसपी अभिषेक महेश्वरी, एएसपी ग्रामीण कीर्तन राठौर, एएसपी पश्चिम डीसी पटेल, पुरानी बस्ती सिटी एसपी राजेश चौधरी, सिविल लाइन सिटी एसपी वीरेंद्र चतुर्वेदी सहित तमाम अधिकारी-जवान शामिल हुए। पूजा के बाद अफसरों ने हवा में गोलियां चलाईं।

कुरुदडीह में मुख्यमंत्री ने कुलदेवता की पूजा की।
कुरुदडीह में मुख्यमंत्री ने कुलदेवता की पूजा की।