नए कृषि कानून का विरोध, पीसीसी चीफ मोहन मरकाम के नेतृत्व में राजभवन के सामने धरने पर बैठे कांग्रेसी

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम की अगुवाई में आज कांग्रेस ने संसद द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों के विरोध में राजधानी रायपुर में पैदल मार्च निकाला। कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन से निकला यह पैदल मार्च राजभवन में राज्यपाल को ज्ञापन सौंपगा। ज्ञापन के माध्यम से राष्ट्रपति से बिल को वापस लेने की मांग की जाएगी।

कांग्रेस के इस पैदल मार्च में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शामिल नहीं हुए, पीसीसी चीफ मोहन मरकाम के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल हुए, राजभवन पहुंचने के बाद सभी कांग्रेसी राजभवन के बाहर धरने पर बैठ गए। कांग्रेस का कहना है कि मोदी सरकार द्वारा नए कृषि कानून से किसानों को नुकसान होगा और पूरी मंडी व्यवस्था, समर्थन मूल्य आदि खत्म हो जाएगा। यह कानून उद्योगपतियों को बढ़ावा देने वाले हैं।

जानकारी के अनुसार कांग्रेस का 10 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल राज्यपाल से मिलेगा, जो कि पीसीसी चीफ मोहन मरकाम के नेतृत्व में पैदल मार्च करते हुए राजभवन पहुंचे हैं, इस दौरान कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। राजभवन के बाहर धरने में पीसीसी चीफ मोहन मरकाम, प्रेमसाय सिंह टेकाम, विकास उपाध्याय, एजाज ढेबर भी शामिल रहे।