शबरी नदी में नहाने के दौरान डूबा एसबीआई का कैशियर, तलाश के लिए मंगाये गये तैराक

Chhattisgarh Crimes
सुकमा। जिले के कोंटा में स्थित शबरी नदी में स्नान करने गया भारतीय स्टेट बैंक का कैशियर तिरुपति राव सोमवार की सुबह नदी में डूब गया। जिसकी खोजबीन स्थानीय प्रशासन व तैराकों ने दिनभर की लेकिन देर रात तक पता नहीं चल पाया। वहीं प्रशासन ने एसडीआरएफ व समावर्ती प्रदेश के तैराकों से भी मदद मांगी है। बताया जाता है कि तिरुपति राव पिछले कई दिनों से शबरी नदी में स्नान करने आता था।

सोमवार सुबह करीब आठ बजे कोंटा स्थित भारतीय स्टेट बैंक का कैशियर तिरुपति राव स्नान करने शबरी नदी गया। जहां पुरानी बस्ती स्थित धोबी घाट में नहाते वक्त तिरुपति राव डूबने लगा उसके हाथों को पास में ही स्नान कर रहे कुछ युवकों ने देखा और उसे बचाने के लिए उसकी तरफ दौड़े लेकिन तब तक तिरुपति पानी में समा गया। उसके बाद स्थानीय पुलिस व प्रशासन मौके पर पहुंचा और स्थानीय तैराकों ने दिनभर खोजने की कोशिश की, लेकिन समाचार लिखे जाने तक कोई खोज खबर नहीं मिली। एसडीओपी रोहित शुक्ला ने बताया कि सुबह से लगातार खोजा जा रहा है, लेकिन आसपास पानी में अब नहीं मिला साथ ही एसडीआरएफ व सीमावर्ती प्रदेश की भी मदद ली जा रही है।

सीमावती प्रदेश आंध्रप्रदेश के विजयनगरम के रहने वाले तिरुपति राव पिछले दो साल से कोंटा में भारतीय स्टेट बैंक के कैशियर के पद पर पदस्थ है। बताया गया कि तीन माह पहले इनकी शादी हुई थी और कार्तिक माह में लगातार वह शबरी नदी में स्नान करने के लिए जाते थे हालांकि उन्हे तैरना आता था, लेकिन उसके बावजूद वह शबरी नदी में डूब गए।

कोंटा स्थित शबरी नदी में दो जगह ऐसी है, जहां हर साल कोई ना कोई पानी में डूब जाता है। स्थानीय लोगों ने बताया कि धोबी घाट व नाव घाट दो ऐसी जगह है, जहां नदी की गहराई तो है, साथ ही साथ वहां पर हर साल ऐसी घटनाऐं होती रहती है। खासकर नए लोग जिन्हें नदी के बारे में जानकारी नहीं है, अक्सर डूब जाते हैं। उसके बावजूद नगर पंचायत द्वारा किसी भी प्रकार की सूचना पटल नहीं लगाई गई। इसलिए जानकारी के अभाव में हादसे हो रहे हैं।