देश में 24 घंटे में कोरोना के 2897 नए मामले, 54 मौतें

Chhattisgarh Crimes

दिल्ली। देश में थोड़ी सी राहत के बाद बुधवार को डेली कोरोना मामलों में 26% और कोरोना से होने वाली मौत में 44% वृद्धि दर्ज की गई है। बुधवार को कोरोना के 2897 नए केस, जबकि 54 मौतें दर्ज की गई हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार डेली पॉजिटिविटी रेट 0.61% और वीकली पॉजिटिविटी रेट 0.74% हो गया है। पिछले 24 घंटे में 2908 लोग कोरोना से रिकवर हुए है, जिसके बाद ठीक होने वालों की संख्या 4 करोड़ 25 लाख के पास पहुंच गई है, जबकि मरने वालों की संख्या 5 लाख 24 हजार के पास पहुंच गई है। सोमवार को 2288 नए केस आए थे और 10 मौत हुई थी। रविवार को 2893 नए केस मिले थे। जबकि शनिवार को 3765 नए मामले मिले थे।

केरल में कोरोना से सबसे ज्यादा मौत

कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 54 है, जिसमें से 48 सिर्फ केरल में दर्ज की गई है। जबकि दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में एक-एक मौत दर्ज की गई है। इसके बाद कोरोना से कुल मौत के आंकड़े महाराष्ट्र में 1,47,849, केरल में 69,325, दिल्ली में 26,183, उत्तर प्रदेश में 23,511 हो गए हैं।

दिल्ली में मामले सबसे ज्यादा

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में बुधवार को 970 नए केस और एक मौत दर्ज दी गई, जबकि पॉजिटिविटी रेट घटकर 3.34% रह गया है। दिल्ली में एक दिन में कोरोना के 29,037 टेस्ट किए गए थे।

सिम्बायोसिस यूनिवर्सिटी का मामला हाईकोर्ट पहुंचा

पुणे की सिम्बायोसिस यूनिवर्सिटी के एक कर्मचारी ने बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखाटाया है। कर्मचारी को कोरोना की पूरी डोज लगवाने तक बिना सैलरी के छुट्टी पर जाने के लिए कहा गया है। यूनिवर्सिटी के कर्मचारियों के पास एचआर डिपार्टमेंट से मेल आया जिसमें जिन कर्मचारियों को कोरोना की पूरी डोज नहीं लगी है उन्हें वैक्सीन लगवाने तक बिना सैलरी के छुट्टी पर जाने की बात लिखी थी। साथ ही जब तक कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट नहीं देते तब तक ऑफिस नहीं आने को कहा गया था।

याचिकाकर्ता ने याचिका में कहा कि ऑफिस से आए मेल को गलत घोषित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि उन्हें काम पर वापस बुलाना चाहिए और इस अवैध नोटिस से हुए नुकसान की भरपाई की जानी चाहिए।