लोगों को उत्साह देखकर मुझे संतुष्टि होती है : सीएम भूपेश बघेल

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शिवरीनारायण रेस्ट हाउस में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित किया। मुख्यमंत्री के साथ राम सुंदर दास, शाकम्भरी बोर्ड के अध्यक्ष रामकुमार पटेल, माटी कला बोर्ड की सदस्य पुनिता कुम्भकार उपस्थित हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिले के सभी पत्रकारों को दीपावली की अग्रिम बधाई देकर पत्रकारवार्ता का से शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि भेंट मुलाकात अभियान के दौरान कल मैंने पामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के ग्राम कोनारगढ़, ग्राम केरा और शिवरीनारायण नगर में लोगों से भेंट मुलाकात की। शिवरीनारायण में कल मैं महानदी की गंगा आरती में भी शामिल हुआ। महानदी के तट पर भगवान श्रीराम की सुंदर और भव्य प्रतिमा के अनावरण भी कल मैंने किया।

शिवरीनारायण छत्तीसगढ़ का महत्वपूर्ण तीर्थ है। इसे इसके गौरव और गरिमा के अनुरूप विकसित करने का काम हम कर रहे हैं। भगवान श्रीराम ने अपने वनवास काल में छत्तीसगढ़ के जिन स्थानों पर प्रवास किया, अथवा वहां से होकर गुजरे, ऐसे स्थलों को चिन्हित करके राम वन गमन पर्यटन परिपथ परियोजना के तहत हम उन्हें पर्यटन तीर्थ के रूप में विकसित कर रहे हैं।

प्रेस वार्ता में मुख्यमंत्री बघेल ने बताया कि राम वन गमन पर्यटन परिपथ परियोजना के तहत पहले चरण में कोरिया से लेकर सुकमा तक 9 स्थलों का चयन किया गया था। इनमें से शिविरीनारायण और चंदखुरी में शुरुआती चरण के काम पूरे हो चुके हैं। शेष 07 स्थलों का विकास भी तेजी से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जैसा कि आप लोगों को मालूम है कि मैं हर विधानसभा क्षेत्र में पहुंचकर लोगों से शासन की योजनाओं और नीतियों सीधे फीडबैक ले रहा हूं। कल मैं पामगढ़ विधानसभा क्षेत्र में जहां भी गया, लोगों ने बहुत उत्साह के साथ मेरा स्वागत किया। लोगों का यह उत्साह देखकर मुझे संतुष्टि होती है।

प्रेस वार्ता में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि सभी की आय बढ़े, सभी की समृद्धि बढ़े और सभी जगह पर सुख-शांति हो, हमने इसी लक्ष्य लेकर अपनी योजनाएं बनाई और उनका क्रियान्वयन कर रहे हैं। हमारी आर्थिक नीतियों का लाभ हर वर्ग के लोगों को मिल रहा है। कोरोना संकट के दौरान भी हमारी दीवाली फीकी नहीं हुई। हम डायरेक्ट बेनीफिट स्कीमों का लाभ सभी को मिला है। तीन दिन पहले ही राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना के अंतर्गत लगभग 1900 करोड़ रुपए का अंतरण हितग्राहियों के बैंक खातों में सीधे किया गया है।

01 नवंबर से प्रदेश में धान खरीदी शुरु हो जाएगी। इस साल 1 करोड़ मिट्रिक टन से अधिक धान खरीदने की तैयारी हमने की है। पिछली बार हमने 98 लाख मिट्रिक टन धान की खरीदी की थी, जो अपने आप में रिकार्ड है। डायरेक्ट बेनीफिट स्कीमों के माध्यमों से अभी तक हम डेढ़ लाख करोड़ रुपए से अधिक राशि लोगों की जेबों में सीधे पहुंचा चुके हैं। बिजली बिल हॉफ योजना के अंतर्गत 42 लाख घरेलू उपभोक्ताओं को अब तक 2500 करोड़ रुपए की राहत दी जा चुकी है। हमने अपनी योजनाओं का लगातार विस्तार किया है, इससे हितग्राहियों की संख्या लगातार बढ़ी है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ अब खरीफ की सभी फसलों, उद्यानिकी फसलों और वृक्षारोपण करने वाले किसानों को भी मिल रहा है। दलहन फसलों को प्रोत्साहित करते हुए अब मूंग, उड़द, अरहर की भी समर्थन मूल्य पर खरीदी की व्यवस्था की जा रही है।