इंटरनेशनल खिलाड़ी, फुटबॉल कोच आरीफ़ मेमन का निधन, खेल जगत में शोक की लहर…

Chhattisgarh Crimes

गरियाबंद। फुटबॉल टीम के कोच आरिफ़ मेमन (52) साल की उम्र में। निधन। उन्होंने सोमवार को रायपुर के एक निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली। वह अपने पीछे दो बच्चे व पत्नी सहित भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं। उनकी असामयिक मौत की खबर सुन गरियाबंद के खेल जगत में शोक की लहर दौड़ गई। विनयी स्वभाव के अछे खिलाड़ी के साथ में मिलनसाए व्यक्ति के रूप में अपनी पहचान बनाए हुए थे वह फुटबॉल खिलाड़ी के अलावा कोच के तौर पर भी वह सफल रहे। गरियाबंद फुटबॉल टीम उनके नेतृत्व में कई बार चैंपियन का सेहरा अपने सिर बांधा। उन्होंने रेफरी के रूप में कई खेलो का भी नेतृत्व किया। गरियाबंद ज़िले में फुटबॉल के विकास में उनके योगदान को कतई भुलाया नहीं जा सकाता ,

वे छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन संघ के ज़िलाध्यक्ष भी थे जिन्होंने हर समय अपने संघ को माँग को ले कर दमदारी से प्रशंसान में समक्ष रखे इसके साथ ही वे । खेल जगत में अपनी अलग पहचान बनाए हुए थे जिन्होंने प्रतिनिधित्व करते हुए अंतरराष्ट्रीय खेल खेलने के लिए दुबई गए और अपनी हुनर दिखाते हुए प्रदेस और ज़िले का नाम रौशन किए ,फ़ुटबाल से उनका लगाव जगजाहिर था।

उन्होंने गरियाबंद में फुटबॉल के विकास के लिए बहुत ज्य्दा मेहनत किया । उनके कई अनगिनत खिलाड़ीयो ने नेशनल लेवल पर गरियाबंद की पहचान बनाई, वे कुछ दिनो से बीमारी के चलते रायपुर के निजी अस्पताल में उपचार के दौरान ज़िंदगी की जंग हार गए और अंतिम साँसे ली, फ़ुटबाल के साथ सभी खेलो में उनका सहयोग रहा है ,वे हमेशा हर खेल के हर वर्ग के खिलाड़ियों को प्रोत्साहन देकर आगे बढ़ाने के प्रयास करते थे।