भाला फेंक में नीरज चोपड़ा पहुंचे फाइनल में

Chhattisgarh Crimes

नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक के 13वें दिन भारत के नीरज चोपड़ा ने भाला फेंक (जैवलिन थ्रोअर) में शानदार प्रदर्शन किया. इस बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत उन्होंने फाइनल में जगह बना ली है. क्वालिफिकेशन राउंड में नीरज ने 86.65 मीटर दूर भाला फेंका. इस प्रदर्शन के बाद उनसे मेडल की उम्मीद बढ़ गई है. वह अपने ग्रुप में पहले स्थान पर रहे. नीरज अब 7 अगस्त को फाइनल खेलेंगे.

हरियाणा के पानीपत में जन्मे नीरज किसी विश्व स्तरीय एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाले दूसरे भारतीय एथलीट है. उसी साल नीरज चोपड़ा ने दक्षिण एशियाई खेलों में 82.23 मीटर के थ्रो के साथ एक और स्वर्ण पदक अपने नाम किया.

इसके बाद 2017 में नीरज ने 85.23 मीटर तक जैवलिन थ्रो कर एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप का गोल्ड मेडल हासिल किया. फिर 2018 के एशियन और कॉमनवेल्थ गेम्स में भी वह स्वर्ग पदक हासिल करने में सफल रहे.

पुरुष भाला फेंक का क्वालिफिकेशन ग्रुप-बी भारत के शिवपाल सिंह फाइनल की रेस से बाहर हो गए हैं. उन्होंने तीसरे प्रयास में 74.81 मीटर का थ्रो किया. शिवपाल का बेस्ट थ्रो 76.40 मीटर का है. ये उन्होंने पहले प्रयास में किया था. शिवपाल 11वें स्थान पर हैं. ग्रुप बी से 3 एथलीटों ने किया क्वालिफाई किया. इसमें पाकिस्तान के अरशद नदीम (85.16 मीटर) हैं.

महिला हॉकी टीम का आज सेमीफाइनल मुकाबला भी है. टीम पहले ही इतिहास रच चुकी है और अब उसका लक्ष्य टोक्यो ओलंपिक खेलों के सेमीफाइनल में अर्जेंटीना को हराकर अपनी उपलब्धियों को शिखर पर पहुंचाना होगा. वही, रेसलिंग में बजरंग पूनिया पर निगाहें होंगी.