पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह से घर जाकर आज रायपुर पुलिस करेगी पूछताछ

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। टूल किट विवाद में सोमवार को छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डा.रमन सिंह से पुलिस पूछताछ करेगी। दिन में 12 बजे रमन सिंह के आवास पर ही रायपुर पुलिस पूछताछ करेगी। डाक्‍टर रमन सिंह के साथ भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा खिलाफ राजधानी रायपुर के सिविल लाइन पुलिस थाने में पिछले दिनों टूलकिट मामले में एफआईआर दर्ज की गई थी। पुलिस ने पूर्व सीएम को नोटिस जारी कर 24 मई को दोपहर 12.30 बजे निवास स्थान पर उपस्थित रहने को कहा। दरअसल पुलिस टूलकिट मामले में एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा द्वारा दर्ज कराए गए केस के सिलसिले में पूछताछ करेगी।

सिविल लाइन पुलिस थाना प्रभारी आरके मिश्रा ने बताया कि जारी नोटिस में चार बिंदुओं पर पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह पूछताछ करने की जानकारी दी गई है। गौरतलब है कि एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने लिखित शिकायत में एआईसीसी, अनुसंधान विभाग के लेटरहेड को जाली बनाने और उस पर झूठी और मनगढ़ंत सामाग्री इंटरनेट मीडिया पर साझा करने का आरोप डा.रमन सिंह और राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा पर लगाया था।

आरोप है कि दोनों नेताओं ने अपने अध‍िकारिक टि्वटर हैंडल से कांग्रेस पार्टी के फर्जी लेटर हेड को शेयर कर प्रदेश में सांप्रदायिक हिंसा भड़काने का काम किया हैं। टीआई ने बताया कि संबित पात्रा से पूछताछ करने के लिए उनके ई मेल आईडी पर नोटिस भेज दिया गया है।

इधर, टूल किट मामले में भाजपा नेताओं ने अपने घरों के सामने प्रदर्शन करके कांग्रेस को घेरने की कोशिश की। राजधानी में पूर्व मुख्यमंत्री डा रमन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने जशपुर और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने बिल्हा में प्रदर्शन किया था।

डा. रमन ने चुनौती दी कि मैं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से कहना चाहता हूं, एफआइआर करने का इतना ही शौक है तो गिरफ्तार करें। ये क्या हमें डर दिखाएंगे, हम तो मांग करते हैं कि हमारे लाखों कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करिए।

डा. रमन ने कहा कि कांग्रेस ने षड़यंत्रकारी दस्तावेज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और देश को बदनाम करने की साजिश की है। यह टूल किट जब जनता के सामने आता है, जो काफी दिनों से चल रहा है। इससे स्पष्ट हो गया कि इस टूल किट से कांग्रेस ने बदनाम करके की साजिश की है। यह राष्ट्र विरोधी कृत्य है। जो ट्वीट करता है, उसके खिलाफ एफआइआर होता है।

डा. रमन ने चुनौती दी कि हजारों कार्यकर्ताओं ने इसे ट्वीट किया है, उन्हें गिरफ्तार करो। कार्यकर्ताओं ने स्पष्ट कर दिया कि वह प्रधानमंत्री और देश का अपमान नहीं सहेंगे। एफआइआर करके क्या डर दिखाना चाहते हैं। रमन ने कहा कि करोड़ों लोगों की आस्था कुंभ मेले को सुपर स्प्रेडर बताया जा रहा है। सरकार के पास ताकत है तो गिरफ्तार करें। जहां राष्ट्र की बात होगी, जहां स्वाभिमान की बात होगी तो कार्यकर्ता विरोध करेगा।