अगले 48 घंटे में बदलेगा छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्यों का मौसम, 26 मई तक खतरे का अलर्ट

Chhattisgarh Crimes

नई दिल्ली। चक्रवात ‘यास’ अगले 12 घंटों में विकराल रूप ले सकता है. मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के भुवनेश्वर केंद्र के उप निदेशक ने बताया कि बंगाल की पूर्व-मध्य खाड़ी के ऊपर कम दबाव का निशान बना हुआ है. अगले 12 घंटों के दौरान इसके उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर बढ़ने की संभावना है. उन्होंने बताया कि चक्रवाती तूफान 24 मई तक तेज होगा और 26 मई को उत्तरी ओडिशा, पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश तट से टकराएगा.

IMD ने अपनी ताजा बुलेटिन में कहा है कि पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है जो मध्य क्षोभमंडल तक फैला हुआ है. इसके अगले 12 घंटों के दौरान एक डिप्रेशन में केंद्रित होने और उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की तीव्र संभावना है. विभाग के मुताबिक यह दबाव तेज होकर चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा.

IMD के मुताबिक, 24 मई तक चक्रवाती तूफान बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा. यह उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ना जारी रखेगा और 26 मई की सुबह के आसपास पश्चिम बंगाल और आसपास के उत्तरी ओडिशा और बांग्लादेश के तटों से टकराएगा. विभाग ने कहा है कि तूफान 26 मई, 2021 की शाम के आसपास पश्चिम बंगाल और आसपास के उत्तरी ओडिशा और बांग्लादेश तटों को पार कर सकता है.

विभाग ने 25 मई को ओडिशा, बंगाल और 26 मई को ओडिशा, झारखंड, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना जताई है. IMD के मुताबिक 26 मई को ओडिशा और 25 और 26 मई, 2021 को गंगीय पश्चिम बंगाल में अत्यधिक वर्षा के साथ भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है. इसके साथ हवाएं तेज गति से चल सकती हैं.आईएमडी ने इस दौरान दक्षिण-पूर्वी और पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी, अंडमान सागर में मछुआरों को नहीं जाने की सलाह दी है. विभाग ने 24 और 25 मई को उत्तर प्रदेश में तेज आंधी की संभावना जताई है.