राजधानी रायपुर में पूर्व पार्षद के भतीजे की हत्या करने वाले तीन दोस्त गिरफ्तार

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। राजधानी रायपुर में पूर्व कांग्रेसी पार्षद राधेश्याम विभार के भतीजे जतिन की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ़्तार कर लिया है। आरोपितो ने पूछताछ में बताया है कि पैसे के लेनदेन के चलते हत्या की है। मुख्य आरोपित प्रदीप नायक ने स्वीकार किया कि अपने दोस्त सुजीत तांडी और वेकेंट दिवाकर के साथ मिलकर जतिन की हत्या की साजिश रची थी।

जतिन नौ फरवरी से घर से गायब हुआ था। उसे फोन करके आरोपितों ने बुलाया फिर घर में हत्या कर लाश को ठिकाने लगा दिया था। इसी काल से हत्याकांड का पुलिस को क्लू मिला। जतिन के स्वजनों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट खमतराई पुलिस थाने में दर्ज कराई थी। सोमवार को खम्हारडीह के चंडी नगर स्थित एक कुएं में बंद सूटकेस के अंदर उसकी लाश मिली थी।

मौके पर पहुंची पुलिस और एफएसवल की टीम ने तत्काल सभी थानों के गुम इंसान के रिकॉर्ड को मांगा और जांच प्रारंभ की। लाश के कपड़ों के आधार पर पहचान जतिन राय के रूप में की गई। पुलिस सूत्रों ने बताया कि प्रदीप नायक ने अपने भनपुरी स्थित घर पर ही जतिन की हत्या गला घोंटकर की थी।

हत्या के बाद लाश को ठिकाने लगाने के लिए जतिन का शव सूटकेस में भरकर खम्हारडीह थाना क्षेत्र अंतर्गत चंडीनगर के सूखे कुएं में फेंक दिया था। छह दिन बाद सोमवार को कचरा बीनने पहुंचे युवकों ने लाश को देखकर इसकी सूचना पुलिस को दी थी।